खेल attack on australian team bus guwahati says sorry1
भारतीय फैंस ने ऑस्ट्रेलियाई टीम से मांगी माफी – attack on australian team bus guwahati says sorry

नई दिल्ली : गुवाहाटी में खेले गए दूसरे टी-20 मैच में हार के बाद भारतीय प्रशंसकों द्वारा ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की बस पर पत्थर फेंकने की घटना काफी अप्रिय रही. ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की बस पर पत्थर फेंकने की घटना के बाद अब भारतीय फैंस ने ऑस्ट्रेलियाई टीम से माफी मांगी है. कंगारू टीम गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में रुकी थी, वहीं पर होटल के बाहर कुछ फैन्स सॉरी के पोस्टर के साथ उस शर्मनाक घटना के लिए माफी मांग रहे थे.

बता दें कि मैच के बाद मंगलवार रात को ही बरसापारा स्टेडियम से मैच खेलकर वापस लौट रही ऑस्ट्रेलिया टीम की बस पर पत्थर फेंकने की घटना हुई थी. असम सरकार ने इस घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं और पुलिस ने घटना में संलिप्तता के संदेह में दो लोगों को गिरफ्तार किया है. उल्लेखनीय है कि मंगलवार को खेले गए दूसरे टी-20 मैच में ऑस्ट्रेलिया टीम ने भारत को आठ विकेट से मात दी.

फेसबुक और टि्वटर जैसी सोशल मीडिया साइटों पर लोग इस घटना को लेकर बयानबाजी कर रहे हैं और आलोचनाएं भी कर रहे हैं. कुछ लोगों का कहना है कि इस घटना के लिए असम के लोगों को दोषी नहीं ठहराना चाहिए.

हालांकि, इसके बाद अब ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं, जिनमें फैन्स माफी के पोस्ट लेकर ऑस्ट्रेलियाई टीम और बीसीसीआई को सॉरी बोल रहे हैं.
गौरतलब है कि इस घटना के बाद ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के खिलाड़ी एरोन फिंच ने ट्वीट किया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “होटल जा रही टीम की बस की खिड़की पर पत्थर फेंका गया. थोड़ा डरावना था.”

इस पोस्ट के साथ फिंच ने टीम की बस की टूटी खिड़की का एक फोटो भी साझा किया. असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने एक ट्वीट में लिखा, “इस घटना में शामिल आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. जांच चल रही है और पुलिस ने दो संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है.”

अपने ट्वीट में बुधवार को मुख्यमंत्री ने लिखा, “एक शानदार मैच के बाद ऐसी घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. एक खेल क्षेत्र के रूप में विकसित हो रहे गुवाहाटी के लिए यह घटना छवि खराब कर देने वाली है. हम कड़े तौर पर इसकी आलोचना करते हैं. असम के लोगों के लिए यह घटना स्वीकार्य नहीं है.”

असम के खेल मंत्री नाबा दोले ने होटल रेडिसन ब्लू में बुधवार को संवादाताओं से कहा कि सरकार ने इस घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं और दोषियों को सजा दी जाएगी. असम के मुख्यमंत्री सोनोवाल ने पुलिस और नागरिक प्रशासन को तुरंत प्रभाव के साथ इस मामले की जांच और दोषियों को सजा देने के आदेश दिए हैं.

डीजीपी मुकेश सहाय ने कहा, “पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और मामले की जांच जारी है. दोनों टीमों के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. हालांकि, हमारे भरसक प्रयास के बावजूद इस प्रकार की दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई.” गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त हिरेन नाथ ने कहा कि यह हमला किसी एक टीम के खिलाफ जानबूझ कर नहीं किया गया.

उन्होंने कहा, “स्टेडियम से करीब 2.5 किलोमीटर की दूरी पर टीम की बस पर पत्थर फेंका गया. दोनों टीमें एक ही रंग की बसों में सफर कर रही थी. हमने दोनों टीमों के लिए एक प्रकार के सुरक्षा के इंतजाम किए थे. पुलिस सुरक्षा में आई कमी की जांच कर रही है.”

नाथ ने कहा कि स्टेडियम में इस प्रकार की कोई घटना नहीं घटी और मैच अच्छा हुआ. यह योजनाबद्ध हमला नहीं था. अगर यह योजनाबद्ध घटना होती, तो बस पर और भी पत्थर फेंके गए होते. हालांकि, पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

Related Post

Subscribe to Blog via Email

Web Maintenance, Update by