ब्रेकिंग padmavati controversy
पुलिस ने भंसाली को मुहैया कराई 24 घंटे की सुरक्षा – bhasali office police protection

नई दिल्ली: पद्मावती को लेकर राजनीतिक विवाद बढ़ता ही जा रहा है. इस बीच फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली को मिल रही धमकियों के मद्देनजर पुलिस ने उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई है. सूत्रों के मुताबिक़ करीब 15-16 पुलिसकर्मियों की टीम मुंबई में जुहू स्थित भंसाली के दफ्तर के बाहर तैनात कर दी गई है. ये सुरक्षा बंदोबस्त 24 घंटे की है. पुलिस के सूत्रों ने इसकी पुष्टि भी की है.

सूत्रों के मुताबिक ये कवायद पद्मावती को लेकर बढ़ रहे विवाद के मद्देनजर है. पुलिस सुरक्षा पद्मावती के रिलीज होने तक रहेगी. बता दें कि पद्मावती में इतिहास के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए कई संगठनों ने चेतावनी दी है. राजस्थान में शूटिंग के दौरान भी करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने फिल्म के सेट पर तोड़-फोड़ के साथ भंसाली के साथ हाथापाई की थी.

इस बीच भंसाली की फिल्म पद्मावती की रिलीज को लेकर चल रहे विवाद से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने किनारा कर लिया है. स्मृति ने अहमदाबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पद्मावती विवाद पर कहा, ‘मुझे इस संदर्भ में कुछ भी नहीं बोलना है. जिस स्टोरी और कहानी के बारे में जाना नहीं, देखा नहीं है और पढ़ा नहीं है, उसके बारे में कुछ भी नहीं कहना चाहती हूं.’ बता दें कि कुछ समय पहले स्मृति ईरानी ने कहा था कि पद्मावती की रिलीज को लेकर कोई समस्या नहीं आएगी. सरकार कानून व्यवस्था का ध्यान रखेगी. लेकिन अब गुजरात चुनावों को देखते हुए स्मृति ईरानी ने फिल्म पर यू-टर्न ले लिया है.

बता दें कि चुनाव आयोग ने भाजपा की उस मांग को खारिज कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि गुजरात में विधानसभा चुनाव के चलते फिल्म पद्मावती की रिलीज पर रोक लगाई जाए या इसे आगे बढाया जाए. ये मांग भाजपा की प्रदेश ईकाई ने चुनाव आयोग को एक पत्र लिखकर की थी. टीवी रिपोर्ट्स के अनुसार, चुनाव आयोग ने संजय लीला भंसाली की इस फिल्म पर बैन लगाने या इसकी रिलीज को आगे बढ़ाने से इंकार किया है.

गुजरात के प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष आईके जडेजा ने मीडिया को बताया था कि गुजरात के 15-16 जिलों के राजपूत समाज ने पार्टी से इस फिल्म को बैन कराए जाने की मांग की थी. उनका तर्क था कि फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है, जिससे राजपूत समाज की भावनाओं को ठेस पहुंची है. इसलिए उन्होंने फिल्म पर बैन की मांग की. ये फिल्म एक दिसंबर को रिलीज हो रही है.

फिल्म और इसके डायरेक्टर संजय लीला भंसाली का जगह-जगह विरोध हो रहा है, लेकिन अब अर्जुन कपूर, भंसाली के सपोर्ट में उतर आए हैं. दरअसल श्री राजपूत करणी सेना को लगा कि फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी (रणवीर सिंह) और रानी पद्मावती (दीपिका पादुकोण) के बीच ड्रीम सीक्वेंस दिखाया जाएगा. इसके बाद करणी सेना ने फिल्म के कास्ट और क्रू को चैन की सांस नहीं लेने दी. जब राजस्थान में राजीनितक दलों ने जब स्क्रीनिंग का विरोध किया, उसके बाद भंसाली ने वीडियो रिलीज कर सफाई दी कि फिल्म में दोनों के बीच कोई रोमांटिक सीक्वेंस नहीं है.
इसके बाद भंसाली के सपोर्ट में एक्टर अर्जुन कपूर उतर आए हैं. उन्होंने ट्वीट कर कहा- एक बार फिर एक शख्स को अपनी रचनात्मकता सिद्ध करनी पड़ रही है क्योंकि राजनीति माहौल को गंदा बना देती है. वो एक शानदार फिल्ममेकर हैं. उनकी सोच पर विश्वास करना चाहिए. मुझे यकीन है कि रानी पद्मावती की कहानी सम्मानित तरीके से दिखाई जाएगी.

Related Post

Subscribe to Blog via Email

Web Maintenance, Update by