बिहार bihar toilet scam
बिहार में हुए करोड़ों के शौचालय घोटाले में एक बैंक मैनेजर गिरफ्तार – bank manager arrested from buxar in toilet scam

पटना: बिहार में हुए करोड़ों के शौचालय घोटाले में एक बैंक मैनेजर की गिरफ्तारी हुई है. स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक शिव कुमार झा को बक्सर से गिरफ्तार किया गया. इस मामले की जांच फिलहाल पटना पुलिस की एक विशेष टीम कर रही है. शिव कुमार झा पर आरोप है कि इस मामले में दो कथित मास्टरमाइंड पीएचईडी विभाग के तत्कालीन कार्यपालक अभियंता विनय कुमार सिन्हा और कैशियर बिटेस्वर से मिलकर बिना हस्ताक्षर के एक दर्जन से अधिक चेक पास कर एनजीओ के खाते में डाल दिया. फिलहाल, सिन्हा और बिटेस्वर दोनों फरार चल रहे हैं.

राजधानी पटना में केंद्रित इस घोटाले में शौचालय बनाने का पैसा सीधे लभार्थियों को ना देकर कुछ एनजीओ को दिया गया, जिसका कोई सरकारी प्रावधान नहीं है. यह एनजीओ पटना और उसके आसपास रजिस्टर्ड है, लेकिन इस मामले का खुलासा होने पर इस संस्था से जुड़े अधिकांश लोग फरार चल रहे हैं. इस मामले में सरकारी विभाग के कई कर्मचारियों की मिलीभगत भी है. सबसे चौंकाने वाला तथ्य यह है कि कई कर्मचारियों के खाते में इन एनजीओ द्वारा घूस का पैसा वापस जमा किया गया है. लेकिन पुलिस ने कहा कि अभी तक मामले की जांच में पाया गया कि अधिकांश चेक शिव कुमार झा ने पास किया, जब वह पटना में पदस्थापित थे. बैंक के कुछ अन्य कर्मचारियों की मिलीभगत की सम्भावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता.
इस मामले के प्रकाश में आने के बाद राजद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर आलोचना की थी. उनका आरोप है कि अब टॉयलेट निर्माण में भी गबन किया जा रहा है. सोशल मीडिया पर भी बीते रविवार को यह घोटाला छाया रहा था. हालांकि, नीतीश कुमार ने सोमवार को कहा था कि आरोपी कोई हो वह बख्शे नहीं जाएंगे.

Related Post

Subscribe to Blog via Email

Web Maintenance, Update by