ब्रेकिंग pil filed in gujarat hc against release of film on arvind kejriwal
केजरीवाल पर बनी फिल्‍म ‘एन इनसिग्निफिकेंट मैन’ पर भी गिर सकती है प्रतिबंध की गाज – pil filed in gujarat hc against release of film on arvind kejriwal

नई दिल्‍ली: पिछले कुछ दिनों से देशभर में संजय लीला भंसाली की फिल्‍म ‘पद्मावती’ का जमकर विरोध हो रहा है. ‘पद्मावती’ के बाद अब दिल्ली के मुख्यमंत्री व आम आदमी पार्टी नेता अरविंद केजरीवाल पर बनी फिल्‍म ‘एन इनसिग्निफिकेंट मैन’ पर भी प्रतिबंध की गाज गिर सकती है. दरअसल गुजरात में इस फिल्‍म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग उठी है. न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस के अनुसार केजरीवाल पर बनी फिल्‍म ‘एन इनसिग्निफिकेंट मैन’ की रिलीज पर रोक लगाने की मांग को लेकर गुजरात उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका (पीआईएल) दाखिल की गई है. यह पीआईएल गुरुवार को दाखिल की गई. गुजरात विधानसभा के चुनाव दिसंबर में हैं और राज्य में आदर्श आचार संहिता मौजूदा समय में प्रभावी है.

न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस के अनुसार वकील भाविक सोमानी ने गुजरात उच्च न्यायालय में पीआईएल दाखिल की है. उन्होंने न्यायालय से मुख्य निर्वाचन अधिकारी को फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने का निर्देश देने की मांग की है. उन्होंने यह मांग गुजरात चुनाव के मद्देनजर आचार संहिता के गुजरात में प्रभावी होने के आधार पर की है. उन्होंने कहा कि फिल्म 17 नवंबर को रिलीज होने जा रही है.

सोमानी ने भारतीय निर्वाचन आयोग (ईसीआई) को पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंनेकहा है कि फिल्‍म ‘एन इनसिग्निफिकेंट मैन’ आचार संहिता का उल्लंघन करती है. सूत्रों के अनुसार, आम आदमी पार्टी (आप) के गुजरात में 25 सीटों पर लड़ने की संभावना है. गुजरात में चुनाव 9 व 14 दिसंबर को होने हैं. इस 100 मिनट के वृत्तचित्र का ट्रेलर सोशल मीडिया पर जारी हो चुका है. वकील ने निर्वाचन आयोग से आग्रह किया है कि वह देखे कि फिल्म इंटरनेट पर वायरल न हो क्योंकि यह प्रचार का एक महत्वपूर्ण माध्यम है और यह बड़े स्तर पर मतदाताओं को प्रभावित कर सकता है.
बता दें कि भारत में पहले ही इस फिल्‍म पर सेंसर बोर्ड की लंबे समत तक नजर टेड़ी रही थी और इस फिल्‍म को यहां रिलीज नहीं होने दिया गया था. ‘एन इन्सिग्निफिकेंट मैन’ नाम की इस डॉक्‍यूमेंट्री फिल्‍म का निर्माण विनय शुक्‍ला और खुशबू रांका ने किया है. इसे हाल ही में सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिल सका है. दरअसल इस फिल्म पर केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी को ऐतराज था. उन्होंने फिल्म रिलीज करने के लिए फिल्म निर्माताओं से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और अरविंद केजरीवाल से अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) लाने को कहा था. अंत में, फिल्म प्रमाणन अपीलीय न्यायाधिकरण ने फिल्म को मंजूरी दे दी. ये फिल्म भारत में 17 नवंबर को रिलीज होगी और इसे अमेरिकी मीडिया कंपनी वाइस रिलीज करेगी.

Related Post

Subscribe to Blog via Email

Web Maintenance, Update by