भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि कश्मीर में शांति कायम करने में क्रिकेट अहम भूमिका निभा सकता है. उन्होंने कहा खेल और क्रिकेट के जरिए कश्मीर में शांति लाई जा सकती है लेकिन इसके साथ ही युवाओं को मुख्यधारा में शामिल करने के लिए अच्छी शिक्षा और रोजगार के पर्याप्त मौके होने भी जरूरी है. धोनी ने अपने जम्मू कश्मीर दौरे के दौरान ‘आजतक’ से खास बातचीत की है.

भारत-पाकिस्तान क्रिकेट की बहाली पर बोलते हुए एम एस धोनी ने कहा कि दोनों मुल्कों के बीच क्रिकेट सिर्फ खेल नहीं रह जाता, वह उससे कहीं आगे बढ़ जाता है. उन्होंने कहा कि इस मामले में सरकार को तय करना है कि हमें द्विपक्षीय क्रिकेट खेलना है या नहीं. साथ ही धोनी ने कहा कि खेल को सरकार की नीतियों से अलग नहीं रखा जा सकता.

सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक से सम्मानित धोनी ने कहा कि यहां आकर काफी अच्छा लगा और भविष्य में भी परिवार के साथ यहां फिर से आने की कोशिश करूंगा.

कोहली का किया समर्थन

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाने से पहले टीम इंडिया को पर्याप्त समय दिए जाने के मुद्दे पर धोनी ने कप्तान विराट कोहली का समर्थन किया, लेकिन उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते वक्त ऐसा होता है. हम विदेशी पिचों पर लगातार खेलते रहते हैं इसीलिए हमें अफ्रीकी हालात में ढलने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा.

एम एस धोनी सेना की ओर से आयोजित मैच के लिए यहां पहुंचे हुए हैं. इससे पहले उन्होंने युवा क्रिकेटरों से मिलकर उन्हें फिटनेस के टिप्स दिए थे. उन्होंने कहा था कि क्रिकेट जारी रखनी है तो फिटनेस पर ध्यान देना काफी अहम हो जाता है.

Related Post

Subscribe to Blog via Email

Web Maintenance, Update by